Home / Interview

जनवरी 24, 2024 27 0 Dr. Owen Gallagher

विशेष साक्षात्कार: जब पुरुष रोज़री माला जपते हैं

शालोम टाडइिंग्स को दिए गए इस विशेष साक्षात्कार में, डॉक्टर ओवेन गैलाघेर ने पुरुषों द्वारा रोज़री माला के साथ अपनी आश्चर्यजनक यात्रा और दुनिया भर में इसके प्रभाव को साझा कर रहे हैं ।

1950 के दशक में ग्रामीण आयरलैंड में एक बालक के रूप में बढ़ते हुए, पारिवारिक रोज़री माला एक रोजमर्रा का मामला था। मेरे पिता हर शाम घोषणा करते थे, “समय हो गया है, रोज़री माला का समय हो गया है। उन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता था कि हम क्या कर रहे थे, पेड़ों पर चढ़ रहे थे, या होमवर्क कर रहे थे, हमें बस यह सब छोड़कर प्रार्थना करनी थी।

मैं और मेरे छह भाईबहन इस बारे में बड़बड़ाते रहे। आख़िरकार, मेडिकल छात्र बनने के लगभग एक साल बाद मैंने रोज़री माला बोलना बंद कर दिया। आगामी 15 वर्षों तक मैं दोबारा माला उठा नहीं पाया ।

कल्पनाओं से बाहर

वर्षों तक विदेश में डॉक्टर के रूप में काम करने के बाद, जब मैं 34 साल की उम्र में घर आया, तो मेरे  परिवार के सभी लोग और मेरे दोस्त लोग शादीशुदा थे; वह अकेलापन का समय था… मैं बस यही सोचता था: “किसी से मिलना और शादी करना वाकई अच्छा होगा।” हालाँकि माला जपना मेरी कल्पनाओं से बाहर था, मैंने मिस्सा बलिदान में जाना जारी रखा था और एक कैथलिक लड़की से शादी करने का इच्छुक था।

लगभग इसी समय, मुझे एक पुस्तिका मिली जो मेरे पिता ने मुझे बहुत वर्षों पहले  54-दिवसीय रोज़री माला की नोवेना विषय पर दी थी। यह पुस्तिका ‘इरेज़िस्टेबल नोवेना’ नाम से भी जानी जाती थी, और उस पुस्तिका ने स्पष्ट रूप से चमत्कार किया। पहले 27 दिनों की दैनिक माला विनती में एक विशिष्ट इरादे के लिए याचिका करना शामिल था, और अन्य 27 दिनों के लिए, आपकी याचिका के उत्तर की परवाह किए बिना, धन्यवाद की दैनिक माला-विनती भेंट की जानी थी।

मैंने अनिच्छा से नोवेना प्रार्थना करने का निर्णय लिया। मैंने 54 दिनों की कड़ी मेहनत पूरी की, कभी-कभी दाँत पीसकर प्रार्थना भी की। 54-वें दिन, मैं कैथरीन से मिला। कुछ ही हफ्तों में हमारी सगाई हो गई और साल के अंत तक हमारी शादी हो गई। कैथरीन और मैंने इस रोज़री माला को एक साथ बोलना तब शुरू किया जब हम एक-दूसरे के साथ बाहर जा रहे थे और इसे अपने वैवाहिक जीवन में जारी रखा।

मुझे अब भी कभी-कभी रोज़री माला जपना काफी कठिन लगता है। लेकिन मेरा भाई, पैडी एक दिन में पाँच या अधिक मालाएँ जपता है, वह कहता है कि उसे वास्तव में यह प्रार्थना करने में आनंद आता है, और जब वह प्रार्थना करता है तो उस की चारों ओर जो शांति की आभा फैलती है, वह इस तथ्य का सच्चा प्रमाण है।

हजारों शब्दों के लायक

तेजी से 30 वर्ष आगे बढ़ते हुए 26 जुलाई 2021 आ गया, संत जोआकिम और संत अन्ना का पर्व। क्राको की सड़क पर लम्बी पंक्तियों में घुटनों के बल बैठे 1000 पोलिश पुरुषों की एक तस्वीर मुझे प्राप्त हुई, जो एक साथ रोज़री माला की प्रार्थना कर रहे थे। इस तस्वीर से बहुत प्रभावित होकर, मैंने तुरंत सोचा, “आयरलैंड में ऐसा क्यों नहीं होना चाहिए।”

मैंने इसे ह्यूमन लाइफ इंटरनेशनल, आयरलैंड के प्रमुख अधिकारी पैट्रिक मैकक्रिस्टल को भेजा। उनकी प्रतिक्रिया भी ऐसी ही थी और हम एक हो गये। दो महीने बाद, आयरलैंड में पहली पुरुषों की सार्वजनिक रोज़री, रोज़री के महीने, अक्टूबर के पहले शनिवार को डेरी शहर में हुई। अस्सी पुरुष आये और 35 महिला समर्थक भी हमारे साथ प्रार्थना कर रही थीं। उस अद्भुत आध्यात्मिक माहौल में कई राहगीर भी हमारे साथ शामिल हुए। जैसे ही हमने प्रार्थना करना शुरू किया, पूर्वानुमानित भारी बारिश रुक गई, और हमने तेज धूप में माला विनती पूरी की। यहीं से बात फैलनी शुरू हुई।

नवंबर में अगली रोज़री माला समारोह के लिए 100 से अधिक पुरुष (न्यूरी में), दिसंबर में 150 (बेलफ़ास्ट में), और जनवरी की रोज़री के लिए (आर्मघ में) 200 से अधिक लोग आए, जिनमें आर्च बिशप इमोन मार्टिन भी शामिल हुए।

जब पुरुष नेतृत्व करते हैं

वे सभी शक्तिशाली आध्यात्मिक अनुभव थे, और सभी पुरुष विभिन्न पृष्ठभूमि के थे, इस विविधता के बावजूद सभी पुरुषों के बीच सौहार्द की एक बड़ी भावना संत लुइस डी मोंटफोर्ट ने कहा: “सार्वजनिक प्रार्थना निजी प्रार्थना से अधिक शक्तिशाली है,” और हमने उस कथन को गंभीरता से लिया।

संत जॉन वियान्नी ने कहा था: “पुरुषों के नेतृत्व में धार्मिकता का प्रभाव कहीं अधिक बढ़ जाता है,” और अध्ययन इसे सच दिखाते हैं। यदि किसी परिवार का पिता अपने परिवार का धार्मिकता में नेतृत्व करता है, तो 80% बच्चे धर्म का पालन करेंगे। जबकि जब मां नेतृत्व करती है तो केवल 20% बच्चे ही उसका अनुसरण करते हैं।

कई महिलाओं ने हमें बताया है कि सड़कों पर सैकड़ों पुरुषों को माँ मरियम की मूर्ति के सामने सैनिकों की तरह घुटने टेकते हुए, अपने पापों के लिए पश्चाताप में प्रार्थना करते हुए देखना कितना शक्तिशाली है –  सदियों से पुरुषों द्वारा महिलाओं के साथ हो रहे दुर्व्यवहार के पाप के प्रायश्चित और भरपाई के लिए, गर्भपात के पापों में पुरुष की भूमिका पाप के प्रायश्चित के लिए, महिलाओं के जीवन में उनका समर्थन न करने पाप के प्रायश्चित के लिए,  हमारे देश और दुनिया के मन परिवर्त्तन और राजनीतिक अत्याचार के अंत के लिए।

जैसा कि एक महिला ने कहा, “जब पुरुष आस्था का नेतृत्व करते हैं, तो महिलाएं और बच्चे उनका अनुसरण करते हैं।”

एक 25 वर्षीय महिला ने मुझे बताया कि जब उसने बेलफ़ास्ट में कड़ाके की ठंड के दिन 150 पुरुषों को सड़क पर घुटनों के बल बैठकर महिलाओं के लिए प्रार्थना करते देखा, तो इससे उसका विश्वास वापस आ गया।

जब भी पुरुषों की रोज़री किसी शहर या कस्बे का दौरा करती है, तो इसका एक शक्तिशाली आध्यात्मिक प्रभाव होता है। लोग, यहां तक कि गैर-कैथलिक भी, सार्वजनिक रोज़री की आध्यात्मिक शक्ति से प्रभावित होते हैं। महिलाएं, और कभी-कभी पुरुष लोग भी, फूट-फूट कर रोने लगे। अन्य लोग अपने अन्दर शांति की अद्भुत अनुभूति से आश्चर्यचकित हो जाते हैं।

आग का फैलाव

सड़क पर पुरुषों की रोज़री माला 5 अप्रैल, 2018 को पोलैंड में शुरू हुआ। आर्टूर वोल्स्की नामक एक व्यक्ति द्वारा शुरू किया गया यह कार्यक्रम आयरलैंड में आने से पहले तेजी से पोलैंड के कई कस्बों और अधिकांश शहरों में फैल चुका था। हालाँकि इसे आयरलैंड में केवल 21 महीने ही हुए हैं, फिर भी अब देश भर में 22 नियमित स्थान हैं।

यह 40 से अधिक विभिन्न देशों में फैल गया है। पैट्रिक ने हाल ही में जर्मनी में 200 से अधिक पुरुषों को पुरुषों की रोज़री के बारे में व्याख्यान दिया; युवाओं का एक समूह बर्लिन की सड़कों पर रोज़री शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है। उम्मीद है, यह अन्य जर्मन भाषी देशों और अंततः पूरे यूरोप में फैल जाएगा।

सिडनी, ऑस्ट्रेलिया में, हर पहले शनिवार को 1000 से अधिक पुरुष सेंट मैरी कैथेड्रल के बाहर इकट्ठा होते हैं। दक्षिण अमेरिका में 10 से अधिक देश हैं जहां सड़कों पर पुरुषों द्वारा रोज़री माला जप किया जाता है, और हमें उम्मीद है कि पूरा अमेरिका इसका अनुसरण करेगा।

हमारा सपना दुनिया के हर शहर, हर देश में हर महीने पुरुषों की माला विनती देखना है। शायद अंततः, महिला रोज़री समूह भी उभरेंगे! वर्तमान में, पोलैंड में एक महिला रोज़री समूह है, और उत्तरी आयरलैंड में भी ऐसा ही है।

“धन्य हैं वह मनुष्य जो प्रभु पर भरोसा रखता है, जो प्रभु का सहारा लेता है” (यिरमियाह 17:7) । ईश्वर चाहता है कि हम बड़ा सोचें और उस पर भरोसा करें। जैसा कि संत कोलंबानुस कहते हैं, “ईश्वर का अनुग्रह उन लोगों पर होता है जो उसकी दया पर भरोसा करते हैं।”

पवित्र आत्मा और माँ मरियम ने निश्चित रूप से सड़क पर पुरुषों की रोज़री विनती का मार्गदर्शन किया है, और यह निश्चित रूप से कुछ ऐसा है जो वे चाहते हैं कि हम सभी करें।

मेरी योग्यता से नहीं

मैंने अपने जीवन में बहुत सी चीजों का आयोजन किया है लेकिन पुरुषों की माला-विनती का आयोजन मेरी अपेक्षा से कहीं अधिक सरल रहा है। ऐसा लगता है कि बहुत सी चीजें अपनी जगह पर हैं – लोग पहली घंटी बजने पर फोन का जवाब देते हैं, प्रिंटर काम करते हैं, कंप्यूटर और कारें पूरी तरह से काम करती हैं…

रोज़री माला एक बहुत शक्तिशाली प्रार्थना है और इसे जपना हर किसी के लिए आसान नहीं है। कुछ सार्थक चीजें आसान होती हैं, और अभ्यास से सभी कठिन चीजें आसान हो जाती हैं। जैसा कि फादर डोनाल्ड एच. कैलोवे ने कहा था, “दृढ़ता हमें चैंपियन बनाती है।”

संत डोमिनिक के अनुसार, “यदि आप रोज़री के साथ बने रहते हैं और अपने पूरे जीवन में प्रति दिन एक बार माला विनती करते हैं, तो माँ मरियम आपको आश्वासन देती है कि आप स्वर्ग जाएंगे। आपका जीवन भी बहुत खुशहाल हो जाएगा, और कई कठिन समस्याएं आसानी से गायब हो जाएंगी।”

इस तरह के वादे के बारे में ऐसा क्या है जो आपकी पसंद के मुताबिक़ नहीं है, जिससे आप माँ मरियम को प्रतिदिन 15 मिनट देकर उसे इतना खुश कर सकें?

और जब आप प्रभु की माँ को खुश करते हैं, तो आप निश्चित रूप से उसके बेटे को भी खुश करते हैं!

Dr. Owen Gallagher

Dr. Owen Gallagher सात बच्चों वाले बड़े परिवार में जन्म लेने वाले दूसरे बेटे हैं। अफ्रीका में कई वर्षों तक सेवा करने के बाद, डॉक्टर ओवन अपने पिता की चिकित्सा सेवा को संभालने के लिए उत्तरी आयरलैंड में अपने घर लौट आए। उनकी पत्नी कैथरीन भी एक चिकित्सिका हैं और उनके नौ बच्चे हैं जो अब बड़े हो चुके हैं।

Share: